आयुर्वेदिक घरेलू नुस्खे : Ayurvedic Nuskhe

999
0
SHARE

1 गजर का ज्यूस:- गाजर का ज्यूस मनुश्य के शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। गाजर के ज्यूस के सेवन से खून की मात्रा भी बढती है। रोज गाजर का रस पीने से दमें की बीमारी जड़ से दूर होती है। गाजर के ज्यूस के साथ-साथ अगर आॅवला, पालक, चुकन्दर का रस पीने से भी बहुत लाभ होता है।

 
2 तुलसी:- तुलसी के पेड़ का हर हिस्सा औशधि है, मुॅह के छालो के लिए आप इसके पतों को
धोकर के चबाने से छालों में बहुत ही आराम मिलता है।

 

3 पथरचटाः- पथरचटा का 1 पता और 4 दाने मिषरी पीस कर 1 कप पानी के साथ खाली पेट पिए, पथरी की समस्या खत्म ही हो जाएगी।

 
4 जामुन:- जामुन के बीज को बारीक पीसकर पानी या दही के साथ लेना कैंसर और पथरी के लिए लाभदायक है।

 
5 सिंघाड़ा:- सिंघाड़ा खाने से फटी एड़ियां भी ठीक हो जाती है। इसके अलावा शरीर में किसी भी स्थान पर दर्द या सूजन होने पर इसका लेप बनाकर लगाने से भी बहुत फायदा होता है।

 

6 अखरोट:- अखरोट मनुश्य के शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। सवेरे-सवेरे खाली पेट तीन-चार अखरोट की गिरियां खाने से कुछ दिनों में घुटनों का दर्द समाप्त हो जाता है।

 

7 सौफ:- गलें में खराष होने पर सुबह-सुबह सौंफ चबाने से बंद गला खुल जाता है।

 
8 हरा धनियाः- ताजा हरा धनिया मसलकर सूघनें से छींके आना बंद हो जाती है।

 

 

 

9 नींबू:- वनज कम करने के लिए नींबू और धनिया का सेवन बहूत लाभदायक है, नींबू के रस में विटामिन की मात्रा होती है, एक गिलास पानी मंे धनिया और नीबू का रस मिला कर घोल बना कर पिए। यह घोल चर्बी कम करनें में बहुत लाभदायक है।

Ayurvedic- Nuskhe

 

10 खजूरः- खजूर की तासीर गर्म होती है अतः इसके सेवन से शरीर में गर्माहट रहती है, जो हमें सर्दी से बचाती है। प्रतिदिन तीन-चार खजूर खाकर उपर से दूध पीना सर्दी के दिनों में बहुत हितकारी होता है।

Ayurvedic- Nuskhe

 

11 एलोवरा जेल:- एलोवरा जेल लगाने से स्किन साॅफट होती है और झुर्रियां आने की प्रोसैस धीमी पड़ जाती है। स्किन की हीलिंग प्रोसैस फास्ट हो जाती है। अतः रोजाना एलोवरा के जेल का प्रयोग करना चाहिए या फिर एलोविरा का ज्यूस का प्रयोग करना चाहिए।

Ayurvedic- Nuskhe

 

12 षकरकंदी:- ये शरीर को गर्म रखती है साथ ही शकरकंदी कार्बोहाइडेट और डायटी फाइबर से भरपूर होती है।

Ayurvedic- Nuskhe

 

13 कार्लीमिर्च:- 6-7 काली मिर्च में थोड़ा सा मक्खन और शक्कर मिला कर रोज खाने से दिमाग तेज होता है।

Ayurvedic- Nuskhe

 

14 पपीताः- जिन बच्चों की षारीरिक लम्बाई कम होती है या फिर शरीर कमजोर होता है, उन्हे प्रतिदिन पपीता खिलाना चाहिए।

Ayurvedic- Nuskhe

 

15 ग्रीन टी:- रात को या फिर सुबह ग्रीन टी पीने से षरीर का मेंटाबोलिज्म बढ़ता है। यही कारण है कि इससे रातभर आपका वनज कम होता रहता है।
Ayurvedic- Nuskhe

 
16 अदरक और गुड़ मिलाकर रस निकाल कर रस की बूंदे नाक में टपकाने से आधा सिर दर्द में लाभ होता है।

Ayurvedic- Nuskhe

 

Ayurvedic- Nuskhe

 
17 आम के पतेः- आम के पतो का रस निकल कर हल्का गरम कर लें, अब इस रस की 2 से 3 बूदें कान में डाले, आपके कान दर्द में आराम मिलेगा।

Ayurvedic- Nuskhe

 

18 दाद पर कच्चे पपीते का रस लगाने से दाद और खुजली की समस्या कुछ ही दिनों में ठीक होने लगेगी।

Ayurvedic- Nuskhe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here