बाइसेप्स बनाने के लिए बेस्ट ५ एक्स्सरसाइज़

1881
0
SHARE

मांसपेशियों के निर्माण कार्यक्रम पर शुरू करते समय, एक प्रमुख शरीर के अंगों में से एक, जो बहुत से लोगों को बड़े ध्यान देना चाहते हैं, बाइसेप्स हैं। best Exersice for biceps दूसरों के द्वारा अत्यधिक ध्यान देने योग्य मांसपेशी होती हैं, इसलिए यदि आपके पास अच्छी तरह से आर्म्स विकसित किए गए हैं, तो लोगों को पता चल जाएगा कि आप अपने कसरत के ऊपर हैं

यह ध्यान रखना जरूरी है कि वास्तविकता में आर्म की मांसपेशियों में हाथ का एक बहुत बड़ा घटक होता है, इसलिए आपको अपने ट्राइसेप्स की भी उपेक्षा नहीं करना चाहिए, फिर आपको अच्छा परिणाम देखने की जरूरत के सही कर देगा।

जब आप अधिकतम आकार के लिए लक्ष्य बना रहे हैं, तो ध्यान देने के लिए एक और महत्वपूर्ण बिंदु यह है कि भारी उठाने को प्राथमिकता के रूप में रखा जाना चाहिए अधिक आकार के निर्माण से भारी अधिशेष, पर्याप्त मात्रा, और बहुत अधिक कैलोरी का संयोजन होता है, यह अभ्यास पर ध्यान केंद्रित करने का एक बुद्धिमान निर्णय होता है जो आपको सबसे ज्यादा वजन संभव से उठाने की अनुमति देगा।

आम तौर पर ज्यादातर लोगों के लिए ये व्यायाम होंगे जैसे कि पुलअप्स और पुशअप्स, दोनों, जो बाइसेप्स की मांसपेशियों को भी लक्ष्य बनाती हैं यदि आप नियमित रूप से अपने कसरत कार्यक्रम के साथ इन्हें शामिल करते हैं और फिर अन्य अभ्यासों में जोड़ रहे हैं जो विशेष रूप से बाइसेप्स की मांसपेशियों के लिए लक्षित हैं तो आप सबसे अच्छा आर्म विकसित करने के लिए सही ट्रैक पर होंगे।

ये पाँच बेस्ट एक्स्सरसाइज़ हैं जो आपके पुशअप्स और पुलअप्स के बाद बाइसेप्स बनाने के लिए ध्यान केंद्रित करेगी :-

Exercise 1: Barbell Curl :-

बाइसेप्स बनाने के लिए बाईसस कर्ल करती हैं, जो आपको भारी वजन के साथ बाइसेप्स बनाने के लिए उपयोगी होगा। ज्यादातर ट्रेनर्स इसे कठिन बनाने के लिए इसके साथ डंबल सेट बताते है जो बाइसेप्स मजबूत करती है, यह अधिकतम शक्ति विकास के आवश्यक है।

व्यायाम करते समय, पहली बात यह है कि आप इस पैटर्न को बिल्कुल भी गलत नहीं करेंगे, और तेज गति से नही करेंगे, क्योंकि आप वजन को ऊपर उठाने के लिए अपने शरीर को पीछे झुका लेते है जो बिलकुल सही नही है

यह व्यायाम के साथ सबसे आम गलतियों में से एक है – गति । आपकी मांसपेशियों को बनाने में अधिक काम करता है यदि आप इसे धीमे और नियंत्रित तरीके से करते हैं तो ।

Exercise 2: Incline Dumbbell Curl :-

दूसरी एक्स्सरसाइज़ है इन्कलाइंड डम्ब्ल कर्ल । जबकि यह एक्स्सरसाइज़ पीठ को झुकने नही देती तो इस एक्स्सरसाइज़ में वजन ज्यादा नही उठता । इसलिए अगर वजन कम उठ रहा है तो परेसान न हो । यह पहले कम वजन से करे और धीरे धीरे वजन उठाना स्टार्ट करे ।

Exercise 3: Half Half full Row :-

नम्बर थर्ड पर आती है हाफ हाफ फुल रो । यह एक्स्सरसाइज़ और थोड़ी कठिन होती है इसलिए इसे नये स्टूडेंट्स न करे । क्युकी इस एक्स्सरसाइज़ को करने के आपको एक सेट में ट्रिपल रेप्स लगनी पडती है इसलिए इस एक्स्सरसाइज़ को बाइसेप्स की कठिन एक्स्सरसाइज़ में माना जाता है । इस एक्स्सरसाइज़ को करने के लिए एनर्जी के ज्यादा जरुरत पड़ती है ।

इसमे बारबले कर्ल रो की जरुरत होती है ।

इस एक्स्सरसाइज़ को करने से आपकी बाइसेप्स में फर्क जरुर होगा । अगर आप इसे गलत ना करे तो ।

Exercise 4 : Concentration Curl :-

ये एक्स्सरसाइज़ बाइसेप्स के लिए जानी मानी एक्स्सरसाइज़ में से एक है । क्युकी यह एक्स्सरसाइज़ आसानी से लग जाती है किन्तु दोस्तों यह लग तो जाती है पर ज्यादातर बच्चे इसे गलत करते है । और आप सब जानते हो अगर गलत एक्स्सरसाइज़ गलत करते ह तो वह किसी काम की नही होती ।

इसलिए दोस्तों जरुरी यह है की आप एक्स्सरसाइज़ सही करे ।

Exercise 5: Standing Biceps Cable Curl :-

अब दोस्तों सब से लास्ट में आती है स्टैंडिंग बाइसेप्स केबल कर्ल । इस एक्स्सरसाइज़ को करने में आप रस्से का इस्तेमाल करेंगे तो ज्यादा अच्छा होगा । इस एक्स्सरसाइज़ से आप अपनी बाइसेप्स में अच्छी ग्रोथ देख सकते है । इस एक्स्सरसाइज़ में आप जितना ज्यादा वजन लेंगे उतना अच्छा होगा पर वजन लेने के जोश में आप इस एक्स्सरसाइज़ को गलत न कर ले नही तो आपको इसका फायदा नही होगा ।

तो दोस्तों अगर आपको यह आर्टीकल अच्छा लगे तो अपनी राय दे और लेटेस्ट अपडेट के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करे । एक्स्सरसाइज़ के लिए हमारा youtube चैनल सब्सक्राइब करे । और अगर आप एक्स्सरसाइज़ करते है तो अपने अनुभव हमारे साथ शेयर करे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here